Sunday, February 26, 2017

चुनाव

देखो मौसम बना चुनावी
नेताओं की फौज चली
हर ओर चुनावी सभा हो रही
बाजे-गाजे धूम-धड़ाके
गुथम-गुथा तू-तू मैं-मैं!

देखो मौसम बना चुनावी
घर-घर देखो वोट मांगते
नेताजी का कुनबा आया
हर वोटर से कहते हैं वो
हमें वोट ही देना
हम सच्चे हैं, हम अच्छे हैं
हम-सा दूजा कोई नहीं!

देखो मौसम बना चुनावी
हर पार्टी का अपना रोना
दुखड़ा अपना-अपना
हर पल रंग बदलते नेता
जनता हैं परेशान
उनके वादे, उनके इरादे
कौन हैं सच्चा, कौन हैं झूठा
मुश्किल बड़ा तय करना!

देखो मौसम बना चुनावी
हर वोटर की अपनी कीमत
सोच समझकर देना वोट
मुद्दा है बस एक हमारा
विकसित हो हर कोना-कोना

देखो मौसम बना चुनावी!!