Monday, July 10, 2017

पावन धरती

भारत देश हमारा
हिन्दू मुस्लिम सिख इसाई
सब मिल बैठे एक संग
हिंदुस्तान की धरती ऐसी
पावन पुण्य कर्म हो जैसे
प्रभू अवतार यहाँ लेते है
देव भूमि के नाम से इसकी
चर्चा होती आम
गंगा मैया स्वयं विराजे
नदियों के संगम पर मनता
तीर्थ यह पावन धाम
स्वर्ण आभूषण भरे पड़े है
मंदिर के भी पास
प्यार कि वर्षा धर्म कि चर्चा
गूंजे दशों दिशाओ में
तीर्थों की भरमार यहाँ
हर तीर्थ की छटा निराली
सबकी है फिर कथा निराली
कश्मीर हो या कन्याकुमारी
प्रभू की झलक हर ओर निराली
गोकूल की सडको पर छाए
कृष्णा कृष्णा कृष्णा
बैधनाथ धाम की नगरी में
गूंजे भोले की जयकार
राम की नगरी
अयोध्या नगरी
हिन्दुओ का है पावन धाम